Rivers Name in Hindi | भारत की प्रमुख नदियाँ

Rivers Name in Hindi: यहाँ हमने भारत की नदिया की जानकारी हिंदी में दी है| Indias Rivers Name in Hindi की जानकारी के लिए यह लेख पूरा पढ़े|

Rivers Name in Hindi

भारत में नदियों का महत्व प्राचीन काल से ही रहा है| हिन्दू धर्म के शास्त्रों में और पुराणोंमें में नदी को काफी महत्व दिया है|भारत में प्राचीन काल से ही लोगो ने नदी किनारे पर अपनी संस्कृति को विकसित किया है|

विश्व की सभी प्राचीन संस्कृति का विकास किसी भी नदी के तट पर ही हुआ है| उसी तरह भारत में भी सिन्धु और गंगा नदी के तट के आसपास संस्कृति का काफी विकास हुआ था|

Indian River System Name in Hindi

भारत की लगभग सभी नदियों को हम चार भागो में विभाजित कर सकते है| यहाँ निचे हमने चारो भागो की नदियों के नाम(River Name in Hindi) दिए है साथ ही प्रमुख नदियों के बारे में कुछ जानकारी भी दी है|

  1. हिमालय से निकलने वाली नदियाँ
  2. विन्ध्य और सापूतारा रेंज से निकालने वाली नदिया
  3. पश्चिम घाट की प्रमुख नदिया

हिमालय जो की पूर्ण रूप से हिम से आच्छादित है| बर्फ के पानी में रूपांतर होने से कई नदियों के तंत्र का निर्माण होता है जैसे की, गंगा नदी तंत्र, सिन्धु नदी तंत्र, ब्रह्मपुत्र नदी तंत्र इत्यादि…

गंगा नदी तंत्र

गंगा नदी की शुरुआत गंगोत्री से होती है| जहा वह भागीरथी के रूप में जानी जाती है| गंगा नदी के तंत्र को समजने के लिए उसके “पञ्च प्रयाग” कांसेप्ट को समजना पड़ता है|

  • विष्णुप्रयाग: अलकनंदा नदी धौली गंगा नदी से मिलती है उस स्थान को विष्णु प्रयाग के रूप में जाना जाता है|
  • नंदप्रयाग: अलकनंदा नदी नंदाकिनी नदी से मिलती है उस स्थान को नंदप्रयाग के रूप में जाना जाता है|
  • कर्णप्रयाग: अलकनंदा नदी पिंडर नदी से मिलती है उसे कर्ण प्रयाग के रूप में जाना जाता है|
  • रुद्रप्रयाग: अलकनंदा नदी मंदाकिनी नदी से मिलती है उस स्थान को रूद्र प्रयाग के रूप में जाना जाता है|
  • देवप्रयाग: जहां अलकनंदा नदी भागीरथी नदी से मिलती है उस देव प्रयाग के रूप में जाना जाता है| यही से आगे के प्रवाह को गंगा के रुपमे जाना जाता है|

गंगा नदी की प्रमुख सहायक नदी के नाम(Gangas Tributaries Rivers name in Hindi): यमुना, दामोदर, सप्त कोसी, राम गंगा, गोमती, घाघरा, सोन

सिन्धु नदी तंत्र

यह नदी तिब्बत में कैलाश श्रेणी के पर्वतो में से निकलती है| जो की जम्मू कश्मीर से होकर पाकिस्तान के कराची में अरब सागर को मिलती है| कश्मीर क्षेत्र में इसे कई अन्य सहायक नदियाँ मिलती है जैसे की जास्कर, श्योक, नुब्रा, हुंजा इत्यादि| भारत में सिंधु नदी की प्रमुख सहायक नदियाँ झेलम, रावी, चिनाब, ब्यास और सतलुज हैं।

ब्रह्मपुत्र नदी तंत्र

मानसरोवर झील से ब्रह्मपुत्र नदी का उद्गम होता है| यह नदी का अधिकत्तम प्रवाह क्षेत्र भारत के बहार ही है लेकिन अरुणाचल प्रदेश के पास U टर्न लेकर भारत में प्रवेश करती है| जहा उसे दिहांग के नाम से जाना जाता है| तिब्बत में इसे त्सांगपो के नाम से भी जाना जाता है| यह नदी अधिक वर्षा वाले क्षेत्र में बहती है जिससे असं और बांग्लादेश में बड़ी तबाही का कारण भी बनती है|

नर्मदा नदी तंत्र

मध्य भारत की प्रमुख नदियों में से एक है जो की पूर्व से पश्चिम की और बहती है| यह नदी मध्यप्रदेश की अमरकंटक की पहाडियों में से निकलती है| गुजरात, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में होकर बहती यह नदी तीनो राज्य के विकास में अपना अहम् योगदान देती है| यह गुजरात के भरूच जिला के पास अरब सागर को मिलती है| उत्तर भारत और दक्षिण भारत के बिच में सीमा के रूप में कार्य करती दिखती है|

तापी नदितंत्र

यह भी मध्यभारत की प्रमुख नदियों में से एक है जो की पूर्व से प[अस्चिम की और बहती है| यह नदी मध्यप्रदेश के सातपुडा रेंज में से निकलती है| मध्य प्रदेश से होकर महाराष्ट्र और बाद में गुजरात में अरबसागर में खम्भात की खाड़ी के पास समुद्र को मिलती है| वाघुर नदी, आनेर नदी, गिरना नदी, पूर्णा नदी, पंजारा नदी और बोरी नदी इसकी प्रमुख सहायक नदी के रूप में जानी जाती है|

गोदावरी नदी प्रणाली

भारत की दुसरे क्रम की सबसे लम्बी नदी है जिसे दक्षिण की गंगा या वृद्ध गंगा के रूप में जानी जाती है| महाराष्ट्र के पार त्रंबकेश्वर के पास से यह नदी निकलती है| यह मौसमी नदी होने केकारण ग्रीष्म में सुख जाती है और वर्षा ऋतू में बड़ी हो जाती है| यह नदी राजमुंदरी में एक उपजाऊ डेल्टा बनाती है| प्राणहिता, इंद्रावती नदी, बिंदुसार, सबरी और मंजीरा इसकी सहायक नदी है|

कृष्णा नदी प्रणाली

यह महाराष्ट्र के महाबलेश्वर में से निकलती भारत की प्रमुख नदियों में से एक है| सांगली से होकर बहती है और बंगाल की खाड़ी में समुद्र को मिलती है| महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश राज्यों से होकर बहती है।
तुंगभद्रा नदी इस नदी की मुख्य सहायक नदी है| तुंगभद्रा नदी स्वयं तुंगा और भद्रा नदियों के द्वारा बनती है|

कावेरी नदी प्रणाली

पश्चिम घात में ताल कावेरी से से यह नदी निकलती है| इस नदी की कई सहायक नदी है जैसे की अर्कावती, शिमशा, हेमावती, कपिला, शिम्शा, होन्नुहोल, अमरावती, लक्ष्मण काबिनी, लोकपवनी, भवानी, नोय्याल और तीर्थ यह बे ऑफ़ बंगाल में समुद्र को मिलती है| यह कर्नाटक और तमिलनाडु से बहती है|

महानदी प्रणाली

यह नदी मध्य भारत के सतपुड़ा रेंज से निकलती है और महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, झारखंड और उड़ीसा से होकर बे ऑफ़ बंगाल में समुद्र को मिलती है| सबसे बड़ा बांध, हीराकुंड बांध इसी नदी पर बना हुआ है।

भारत की प्रमुख नदियों के नाम, उद्गम स्थान, सहायक नदियाँ और लम्बाई हिंदी में – Names of major rivers of India, their place of origin, tributaries and length in Hindi

नदी का नामलम्बाई उद्गम स्थानसहायक नदी
गंगा नदी2,510 (2071)गंगोत्री के निकट गोमुख सेयमुना, रामगंगा, गोमती, बागमती, गंडक, कोसी, सोन, अलकनंदा, भागीरथी, पिंडर, मंदाकिनी
सिंधु नदी2,880 (709)मानसरोवर झील के निकट (तिब्बत)सतलुज, व्यास, झेलम, चिनाब, रावी, शिंगार, गिलगित, श्योक
ब्रह्मपुत्र नदी2,880मानसरोवर झील के निकट (तिब्बत में सांग्पो)घनसिरी, कपिली, सुवनसिरी, मानस, लोहित, नोवा, पद्मा, दिहांग
सतलुज नदी1440 (1050)मानसरोवर के निकट राकसतालव्यास, स्पिती, बस्पा
गोदावरी नदी1,450नासिक की पहाड़ियों सेप्राणहिता, पेनगंगा, वर्धा, वेनगंगा, इंद्रावती, मंजीरा, पुरना
नर्मदा नदी1,312अमरकंटक चोटीतवा, शेर, शक्कर, दूधी, बर्ना
यमुना नदी1375यमुनोत्री ग्लेशियरचम्बल, बेतवा, केन, टोंस, गिरी, काली, सिंध, आसन
कृष्णा नदी1.290महाबलेश्वर के निकटकोयना, यरला, वर्णा, पंचगंगा, दूधगंगा, घाटप्रभा, मालप्रभा, भीमा तुंगप्रभा, मूसी
चिनाब नदी1,180बारालाचा दर्रे के निकटचंद्रभागा
घाघरा नदी1,080मप्सातुंग (नेपाल) हिमनदशारदा, करनली, कुवाना, राप्ती, चौकिया
चम्बल नदी960मऊ के निकट जानापाव पहाड़ी सेकाली, सिंध, सिप्ता, पार्वती, बनास
महानदी890सिहावा के निकट रायपुरसियोनाथ, हसदेव, उंग, ईब, ब्राह्मणी, वैतरणी
झेलम नदी720शेषनाग झील, जम्मू-कश्मीरकिशन, गंगा, पूंछ, लिदार, करेवाल, सिंध
रावी नदी725रोहतांग दर्रा, कांगड़ासाहो, सुइल
कोसी नदी730नेपाल में सप्तकोकोशिकी (गोंसाईधाम)इंद्रावती, तामुर, अरुण, कोसी
सोन नदी770अमरकंटक की पहाड़ियों सेरिहंद, कुनहड़
कावेरी नदी760केरकारा के निकट ब्रह्मगिरीहेमावती, लोकपावना, शिमला, भवानी, अमरावती, स्वर्णवती
ताप्ती नदी724मुल्ताई से (बैतूल)पूरणा, बैतूल, गंजल, गोमई
साबरमती716जयसमंद झील (उदयपुर)वाकल, हाथमती
दामोदर नदी600छोटा नागपुर पठार से दक्षिण पूर्वकोनार, जामुनिया, बराकर

भारत के राज्यों की प्रमुख नदियों के नाम हिंदी में – Names of major rivers of Indian states in Hindi

  StateRiver name in Hindi
आंध्रप्रदेशगोदावरी और मुसी
बिहारगंगा
दिल्लीयमुना
गोवाMandovi
गुजरातसाबरमती, नर्मदा, तापी
हरयाणायमुना
झारखंडदामोदर, सुवर्णरेखा
कर्नाटकभद्र, तुंग भद्रा, कावेरी,
केरलाPamba
मध्यप्रदेशबेतवा, तापी, नर्मदा, क्षिप्रा, चम्बल, मन्दाकिनी
महाराष्ट्रकृष्णा, गोदावरी, तापी, और पञ्चगंगा
नागालैंडDiphu & Dhansiri
उड़ीसाब्रह्मिनी और महानदी
पंजाबसतलज
राजस्थानचम्बल
सिक्किमRani Chu
तमिलनाडुCauvery, Adyar, Cooum, Vennar, Vaigai & Tambarani
उत्तरप्रदेशगंगा, यमुना और गोमती
उत्तरांचलगंगा
पश्चिम बंगालदामोदर

FAQ – River Name in Hindi

भारत की सबसे बड़ी नदी का नाम क्या है?

भारत की सबसे बड़ी नदी का नाम गंगा है जो की गंगोत्री से निकल कर 2510 किमी का अंतर तय करके बंगाल की खाड़ी में समुद्र को मिलती है| गंगा नदी प्रणाली भारत की सबसे बड़ीनदी प्रणाली है|

पूर्व से पश्चिम में बहने वाली नदिया कौन सी है?

भारत में दो नदी ऐसी है जो की उद्गमस्थान को छोड़ने के बाद पश्चिम की और बहती है| वह नदि नर्मदा, तापी|

भारत में नदी को कितने भागो में विभाजित किया जाता है?

भारत में नदियों को मुख्य दो भागो में विभाजित किया जाता है|
१. हिमालयी नदियाँ
२. प्रायद्वीपीय नदियाँ

Leave a Comment